lucknow@inext.co.in

LUCKNOW : जो ड्राइवर सात दिन पहले तक मिल्क वैन चलाता था उसे स्कूल वैन थमा दी. नतीजा चार स्कूली छात्र-छात्राओं को बिठाये वैन की रोडवेज बस से भिड़ंत हो गई. सोमवार सुबह हुआ हादसा इतना भयानक था कि बस से टकराने के बाद वैन पलट गई और उस पर सवार तीन स्टूडेंट गंभीर रूप से घायल हो गए. इस हादसे में वैन ड्राइवर को भी चोटें आई. जानकारी मिलने पर पहुंची पुलिस ने सभी घायलों को इलाज के लिये सिविल हॉस्पिटल में एडमिट कराया. वहीं, चौकी इंचार्ज फन की तहरीर पर वैन ड्राइवर, मालिक व स्कूल के प्रबंधक के खिलाफ एफआईआर दर्ज कर ली गई है.

 

रॉन्ग साइड मोड़ दी वैन

इंस्पेक्टर गोमतीनगर के मुताबिक, गोमतीनगर निवासी सुनील यादव महाराजा अग्रसेन पब्लिक स्कूल में दो स्कूल वैन संचालित करता है. एक वैन वह खुद जबकि, दूसरी वैन विराटखंड निवासी शाहरुख से चलवाता है. सोमवार सुबह शाहरुख अपनी वैन लेकर छात्र-छात्राओं को लेने के निकला था. लेखराज मार्केट के करीब से क्लास 8 के छात्र अनुराग यादव व उसकी बहन क्लास 5 की छात्रा शिवानी यादव को वैन में बिठाने के बाद जुगौली में क्लास 11 की छात्रा शहाना बानो व अंकुर को बिठाया. इसके बाद वह फन के बगल से लोहिया पथ पर निकला. हालांकि, उसने गोमतीनगर की ओर जाने की बजाय वैन को रॉन्ग साइड समतामूलक चौराहे की ओर मोड़ दिया.

 

रोडवेज बस से जा भिड़ी

प्रत्यक्षदर्शियों के मुताबिक, इसी बीच समतामूलक चौराहे की ओर से गाजीपुर डिपो की रोडवेज बस (यूपी65एफटी/0481) वहां आ पहुंची. लोहिया पथ में दाखिल होते वक्त वैन की रफ्तार इतनी तेज थी कि ड्राइवर शाहरुख उस पर नियंत्रण नहीं रख सका और वैन रोडवेज बस में जा टकरायी. टक्कर इतनी जबरदस्त थी कि वैन रोड पर पलट गई. जिससे वैन सवार छात्र-छात्राएं व ड्राइवर गंभीर रूप से घायल हो गए. बीच सड़क हुए हादसे से वहां कोहराम मच गया. आनन-फानन बस की सवारियों ने वैन में फंसे घायल छात्र-छात्राओं व ड्राइवर को बाहर निकाला और पुलिस को घटना की सूचना दी. पुलिस ने सभी घायलों को इलाज के लिये सिविल हॉस्पिटल पहुंचाया. जहां अंकुर को प्राथमिक उपचार को बाद छुट्टी दे दी गई जबकि, बाकी अन्य घायलों को हॉस्पिटल में एडमिट कर ि1लया गया.

 

पुलिस ने दर्ज कराई एफआईआर

लापरवाही व बेतरतीब ढंग से वैन ड्राइव करने के चलते हुए हादसे को लेकर चौकी इंचार्ज फन सचिन कुमार शुक्ला ने ड्राइवर शाहरुख, वैन मालिक सुनील कुमार यादव और अग्रसेन पब्लिक स्कूल के प्रबंधक के खिलाफ धारा 279, 337 व 338 आईपीसी के तहत एफआईआर दर्ज कराई है. वादी चौकी इंजार्ज ने एफआईआर के लिये दी तहरीर में बताया है कि ड्राइवर शाहरुख के पास प्राइवेट चार पहिया वाहन चलाने का लाइसेंस है, जिसके आधार पर वह स्कूल वैन चला रहा था.

 

नौकरी छूटी तो चलाने लगा स्कूल वैन

पुलिस की पूछताछ में ड्राइवर शाहरुख ने बताया कि वह अब तक अमूल दूध की वैन चलाता था. लेकिन, कुछ दिनों पहले उसे अचानक गांव जाना पड़ गया. जिसके चलते उसकी नौकरी छूट गई. इसी के बाद सुनील कुमार यादव से उसकी मुलाकात हुई और उसने अपनी स्कूल वैन चलाने को कहा. सात दिन पहले शाहरुख ने इस वैन को ड्राइव करना शुरू किया था.