कठुआ (जम्मू और कश्मीर) (एएनआई)। दक्षिण कश्मीर के हिमालयी क्षेत्र में 3,880 मीटर की ऊंचाई पर स्थित पवित्र अमरनाथ गुफा के दर्शन के लिए यात्रा 1 जुलाई, सोमवार से शुरू हो जायेगी। तीर्थयात्रियों पहला जत्था 30 जून, रविवार को रवाना होगा। अधिकारियों का कहना है कि 1 जुलाई से 45 दिनों तक चलने वाली यात्रा के दौरान तीर्थयात्रियों की सुरक्षा के लिए उचित प्रबंध किए हैं। यात्रा के दौरान सीसीटीवी कैमरे से नजर रखी जाएगी।

डीएसपी रैंक के अधिकारी रखेंगे पैनी नजर
सुरक्षा को लेकर कठुआ उपायुक्त विकास कुंडल ने मीडिया से बात करते हुए कहा लखनपुर में सीसीटीवी पहले ही लगाए जा चुके हैं। हम किसी भी असामाजिक तत्वों के प्रवेश को रोकने के लिए औचक निरीक्षण कर रहे हैं। लखनपुर से 40 किलोमीटर की दूरी पर राष्ट्रीय राजमार्ग पर कड़ी सुरक्षा की गई है। इसे चार जोन में विभाजित किया गया है। हर जोन की निगरानी डीएसपी रैंक के अधिकारी द्वारा की जाएगी। बड़ी संख्या में सुरक्षा कर्मी तैनात किए गए हैं।
जम्मू-कश्मीर में हाई अलर्ट, पाकिस्तान ने पुलवामा में फिर आतंकी हमले की जताई आशंका
Amarnath Yatra : अमरनाथ यात्रा 1 जुलाई से शुरू होगी, तैयारियों को लेकर हुई हाई लेवल मीटिंग
रिसेप्शन सेंटर पर मिलेंगी ये जानकारियां
अमरनाथ यात्रा दो मार्गों बालटाल और पहलगाम से की जाएगी।इसके साथ ही  विकास कुंडल ने बताया कि कई रिसेप्शन सेंटर बनाए गए हैं। यहां यात्रियों को पेयजल, शौचालय, यात्रा मार्ग, मौसम की स्थिति, रजिस्ट्रेशन काउंटर,  मेडिकल चेकअप काउंटर, बीएसएनएल सिम इश्यू काउंटर,  वन टाइम ट्रैफिक चेक काउंटर आदि की भी जानकारी दी जाएगी। वहीं 'लंगर' (सामुदायिक रसोईघर) की 24 घंटे निगरानी करने के लिए सीसीटीवी कैमरे लगाए गए हैं।

National News inextlive from India News Desk