गोरखपुर (सैय्यद सायम रऊफ)। जो व्यक्ति जिंदगी में दवा से दूर रहा, लेकिन फिट रहा। लाइफ स्टाइल को बेहतर कर जिसने अपने ब्लड प्रेशर को कंट्रोल रखा। कम खाओ और पैदल चलो का न सिर्फ नारा दिया, बल्कि अपनी जिंदगी में उसे उतार कर भी दिखाया। अब उस महात्मा गांधी की जिंदगी से इंस्पायर होकर लोगों की बेहतर हेल्थ के नुस्खे तलाशे जाएंगे। यह बीड़ा उठाया है इंडिया काउंसिल फॉर मेडिकल रिसर्च ने, जिसके रीजनल सेंटर्स बच्चों का इलाज गांधी के देसी नुस्खे से करेंगे और उन्हें बीमारियों से लड़ने के काबिल बनाया जाएगा। गांधी जयंती के मौके पर गांधी की हेल्थ को लेकर की गई स्टडी पर बेस्ड जर्नल 'गांधी एंड हेल्थ' का हिंदी वर्जन भी लांच किया जाएगा।

मिशन शक्ति में बच्चों को करेंगे अवेयर
गांधी जयंती पर रीजनल सेंटर फॉर मेडिकल रिसर्च (आरसीएमआर) की ओर से मिशन शक्ति कैंपेन की लांचिंग होगी। इसमें आरसीएमआर की टीम स्कूल-स्कूल जाकर बच्चों को लाइफ स्टाइल चेंज करने के लिए अवेयर करेगी और उन्हें फास्ट फूड जैसी चीजों से होने वाले नुकसान के बारे में बताएगी। यही नहीं महात्मा गांधी ने अपनी जिंदगी में जो भी तरीके अपनाए और उससे उन्हें क्या फायदा मिला, इसको लेकर भी लोगों को अवेयर किया जाएगा। बच्चे अवेयर होंगे तो लाइफ स्टाइल बेहतर होगी और उन्हें बीमारियां नहीं घेरेंगी।

 


रोजाना 22500 स्टेप चलते थे गांधी
आरसीएमआर के डायरेक्टर डाॅ। रजनीकांत ने बताया कि स्टडी के दौरान यह बात सामने आई है कि महात्मा गांधी अपने डेली रूटीन में 22 हजार 500 कदम चलते थे। यह करीब 18 किमी के बराबर है। 40 साल तक उन्होंने इस रूटीन को फॉलो किया। इस हिसाब से अगर देखा जाए तो 1913 से 1948 के बीच करीब 79 हजार किमी का पैदल सफर किया। इस रिसर्च के बाद व‌र्ल्ड हेल्थ ऑर्गनाइजेशन ने हेल्दी रहने के लिए रोजाना आठ से 10 हजार स्टेप चलने के लिए रिकमेंड किया। उन्होंने बताया कि महात्मा गांधी 70 साल की उम्र में 46.7 किलो, 5 फीट पांच इंच लंबे और उनका बॉडी मास इंडेक्स 17.1 था।

महात्मा गांधी की खास बातें
- महात्मा गांधी ने अपने डेली रूटीन को फॉलो किया और एक्सरसाइज कभी नहीं छोड़ी।
- वेजिटेरियन डाइट को उन्होंने प्रमोट किया।
- तंबाकू और अलकोहल से वह हमेशा दूर रहे।
- रोजाना 18 किमी करते थे सफर।
- मांसिक एक्सरसाइज के लिए मौन व्रत रखने की सलाह।
- अल्पाहारी रहने का दिया संदेश।

150वीं जयंती पर होगी बुक लांच
महात्मा गांधी की 150वीं जयंती के मौके पर बुक लांच की जाएगी। यह गांधी एंड हेल्थ का हिंदी वर्जन होगा, जिसमें महात्मा गांधी पर की गई स्टडी के खास कलेक्शन हैं। आईसीएमआर ने इसे कंपाइल किया है, जिसका हिंदी वर्जन भी तैयार हो चुका है। इसे दो अक्टूबर को लांच किया जाएगा। इंग्लिश वर्जन धर्म गुरु दलाई लामा ने लांच किया था।

'महात्मा गांधी ने दवा से दूर रहकर खुद को फिट रखा और अपनी लाइफ स्टाइल के जरिए हमेशा फिट रहे। अब बच्चों को भी उनकी लाइफ स्टाइल से अवेयर किया जाएगा, जिससे वह फिट रहें और बीमारी की चपेट में आने से बचें।'
- डाॅ। रजनीकांत, डायरेक्टर, आरसीएमआर

gorakhpur@inext.co.in

 

Posted By: Inextlive

National News inextlive from India News Desk