GORAKHPUR: एक सप्ताह से लगातार हो रही हल्की बारिश और शुक्रवार को तेज हुई बारिश के बाद शहर के अधिकांश हिस्से में घुटने तक पानी लग गया. कई सड़कें डूब गई, मानो वह तालाब हों. वार्डो के अंदर ही नहीं शहर के मुख्य सड़कों पर भारी जलभराव की स्थिति बन गई थी. गोलघर, इन्दिरा बाल बिहार, विजय चौराहा, सिविल लाइंस, मियां बाजार, रुस्तमपुर व दाऊदपुर के एरिया में दिनभर पानी लगा रहा. इससे लोगों को परेशानी का सामना करना पड़ा. जलभराव को खाली करने के लिए नगर निगम ने 48 पंप लगा रखे थे, जो दिनभर चलते रहे.

दुकानों में भी घुसा पानी

भारी बारिश के कारण पानी नालियों के रास्ते निकल नहीं पा रहे थे जिससे जलभराव बढ़ता ही चला गया. सिविल लाइंस, रेती चौक, घंटाघर, नखास, उर्दू बाजार, असुरन, रुस्तमपुर सहित शहर के कई हिस्सों में दुकानों तक में पानी घुस गया था. इसे लेकर दुकानदार खासे परेशान दिखे. साथ ही माया बाजार, लच्छीपुर, मिर्जापुर पंचपेड़वा के कुछ घरों के अंदर भी पानी चला गया. जिला अस्पताल में पानी लगने से मरीजों को काफी परेशानी हुई, इसके अलावा आरटीओ विभाग, कलेक्ट्रेट, डीडीयूजीयू आदि जगहों पर भी पानी लगने से रोजाना के काम प्रभाि1वत हुए.

यहां पर हुआ जलभराव

शहर के मुख्य सड़कों के अलावा धर्मशाला बाजार, माया बाजार, जिला परिषद रोड, दाउदपुर, हट्टी माई स्थान, रसूलपुर भट्ठा, सिधारीपुर, अजय नगर, सूरजकुंड, विजय चौराहा, सिनेमा रोड, बक्शीपुर, नखास, साहबगंज, छोटे काजीपुर, रुस्तमपुर, आजाद चौक, आरटीओ परिसर, इलाहीबाग, पिपरापुर, बहादुर शाह जफर कालोनी, गोलघर, भेडिय़ागढ़, असुरन, मेडिकल कालेज रोड, नंदानगर, सिनेमा रोड, बैंक रोड, नखास से रेती चौक, घोष कंपनी से नखास रोड, तारामंडल, विवेकपुरम, रायगंज रोड, प्रेमचंद पार्क रोड, हरिहर प्रसाद दुबे मार्ग पर भी पूरे दिनभर जलभराव की स्थिि1त बनी रही.

वर्जन

तेज बारिश के कारण कम समय में ज्यादा पानी लग गया था. जिसे हटाने के लिए शहर के निचले हिस्सों में पंपिंग सेट लगाए गए थे तो अन्य जगहों पर भी कर्मचारियों की तैनाती की गई थी.

मुकेश रस्तोगी, मुख्य नगर स्वास्थ्य अधिकारी