-सिटी कमांड सेंटर से शहर के हर मूवमेंट पर थी नजर

-बाबतपुर एयरपोर्ट पर लावारिश बैग मिलने से मचा हड़कम्प

varanasi@inext.co.in

VARANASI

अयोध्या फैसले को लेकर शनिवार को वाराणसी में चप्पे-चप्पे पर सुरक्षा व्यवस्था सख्त थी. एयरपोर्ट, रेलवे स्टेशनों और बस अड्डे पर भी पुलिस फोर्स को अलर्ट रहने को कहा गया था. हालांकि एयरपोर्ट पर दोपहर में एक लावारिश बैग मिलने से थोड़ी देर के लिए अफरा-तफरी मच गयी. तलाशी में बैग से कपड़े और कागजात मिलने पर सुरक्षा बलों ने राहत की सांस ली. उधर, रेलवे स्टेशनों पर सुबह से लेकर रात तक हर यात्रियों पर जीआरपी की नजर थी. सिटी कमांड सेंटर से शहर के हर मूवमेंट पर नजर रखा जा रहा था. चौराहों पर लगे एड्रेसिंग सिस्टम से पब्लिक को संयम बरतने की अपील भी की जा रही थी.

कोलकाता की उड़ानें रद रहीं

बाबतपुर एयरपोर्ट पर सुरक्षा व्यवस्था चाक-चौबंद रही. सीआईएसएफ ने एयरपोर्ट परिक्षेत्र को अपने कब्जे में ले रखा था. एंट्री नाके से लेकर पार्किग और बिल्डिंग में सुरक्षा सख्त थी. एप्रन, रनवे समेत सभी गेटों पर सुरक्षा जवान मौजूद थे. इसी बीच दोपहर करीब डेढ़ बजे एक लावारिश बैग मिलने की सूचना से हड़कम्प मच गया. सूचना मिलते ही तुरंत बम डिस्पोजल स्क्वायड पहुंचा. उन्होंने बैग की तलाशी ली, जिसमें कपड़े और कागजात मिले. इस पर यात्रियों के साथ सुरक्षाकर्मियों ने राहत की सांस ली. उधर, बुलबुल तूफान के चलते कोलकाता की सभी उड़ानें रद रहीं.

होती रही तलाशी

कैंट, मंडुवाडीह और वाराणसी सिटी रेलवे स्टेशनों पर शुक्रवार रात से ही पुलिस गश्त शुरू हो गई थी. स्टेशनों पर आने-जाने वाली सभी ट्रेनों में तलाशी अभियान चलाया गया. हर संदिग्धों से पूछताछ और उनके पहचान पत्रों की जांच की गई. सभी प्लेटफार्म और सर्कुलेटिंग एरिया में कई बार यात्रियों के बैग की तलाशी ली गई. पूरे दिन यह प्रक्रिया चलती रही, लेकिन कोई आपत्तिजनक वस्तु नहीं मिली. हालांकि अयोध्या फैसले को लेकर ऐहतियातन कैंट रेलवे स्टेशन पर शुक्रवार को जीआरपी सीओ अखिलेश कुमार राय के नेतृत्व में ड्रिल किया गया था.

रोडवेज पर सुरक्षा नदारद

अयोध्या फैसले को लेकर कैंट रोडवेज बस स्टेशन पर यात्रियों की सुरक्षा को लेकर शुक्रवार को ही एक दर्जन पुलिसकर्मियों की तैनाती कर दी गई थी. पुलिस चौकी को भी अलर्ट किया गया था, लेकिन शनिवार अयोध्या फैसले के बाद बस अड्डे पर दिनभर कोई सख्ती नहीं दिखी. स्टेशन से रवाना होने वाली बसों की चेकिंग भी नहीं हो रही थी. परिसर में आने वाले यात्रियों की तलाशी तो दूर पूछताछ भी नहीं की जा रही थी. दो-तीन पुलिसकर्मी निर्माणाधीन फ्लाईओवर के नीचे बातचीत में मशगूल दिखे. हालांकि रोज की अपेक्षा शनिवार को यात्रियों की संख्या 60 प्रतिशत कम रही.

बिजली का बना कंट्रोल रूम

अयोध्या फैसले को लेकर बिजली विभाग ने कंट्रोल रूम बनाया है. यह कंट्रोल रूम दो दिनों तक संचालित होगा. कंट्रोल रूम का नंबर 8081924276 है. इसमें विभाग के छह अधिकारियों व कर्मचारियों को तैनात किया गया है. कंट्रोल रूम काशी इंट्रीग्रेटेड कमांड एंड कंट्रोल सेंटर शाहिद उद्यान में बनाया गया है. इसमें सभी विभागों के कर्मचारियों को तैनात किया गया है.

Posted By: Inextlive