कराची (पीटीआई)। विश्वभर में फैली कोरोना महामारी के चलते सारे इंटरनेशनल मैचों में रोक लग चुकी है मगर इस वायरस का असर आने वाले टूर्नामेंट में भी दिख रहा है। सितंबर में पाकिस्तान में एशिया कप टी-20 होना है, चूंकि भारत, पाकिस्तान का दौरा करेगा नहीं। ऐसे में वेन्यू बदलने की मांग उठी थी जिसको लेकर एशियन क्रिकेट काउंसिल (एसीसी) ने इस महीने मीटिंग शेड्यूल की थी, मगर कोविड 19 महामारी के चलते मीटिंग को रद करना पड़ा और अब वेन्यू को लेकर होने वाला फैसला फिलहाल टल गया है।

भारत पहले कर चुका है मना

बीसीसीआई अध्यक्ष सौरव गांगुली ने पहले ही स्पष्ट कर दिया था कि भारत सितंबर में एशिया कप के लिए पाकिस्तान की यात्रा नहीं करेगा। लेकिन किसी अन्य स्थान पर उनके खिलाफ खेलने के लिए तैयार हैं, जिसके बाद एसीसी की बैठक को ऑर्गेनाइज किया गया था मगर अब वो भी नहीं हो सका।पाकिस्तान एसीसी कार्यकारी बोर्ड से अनुरोध करने के विकल्प पर भी विचार कर रहा था कि वह एशिया कप टी 20 के कुछ मैचों को श्रीलंका, बांग्लादेश या अफगानिस्तान जैसी अन्य टीमों के खिलाफ घर पर आयोजित कर सके, भले ही टूर्नामेंट को तटस्थ स्थान पर आयोजित करने का निर्णय लिया गया हो। पीसीबी का रुख यह है कि अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट धीरे-धीरे पाकिस्तान लौटने के साथ घर पर एशिया कप के कुछ खेलों की मेजबानी करने से लाभान्वित हो सकता है।'

पाकिस्तान ने दी थी धमकी

पाकिस्तान ने भारत को एशिया कप में नहीं खेलने को लेकर धमकी भी दी थी। पाकिस्तान का कहना था कि अगर भारत एशिया कप के लिए पाकिस्तान नहीं आता है, तो हम 2021 टी 20 विश्व कप में भागीदारी से इनकार कर देंगे। हालांकि पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड (पीसीबी) के वरिष्ठ अधिकारी ने इन खबरों को खारिज कर दिया कि पीसीबी ने बांग्लादेश को अपनी टीम पाकिस्तान भेजने के बदले में बीसीबी को एशिया कप की मेजबानी के अधिकार दिए थे। बोर्ड का कहना था कि, एशियाई क्रिकेट परिषद (एसीसी) द्वारा हमें मेजबानी के अधिकार दिए गए हैं और हम उन्हें किसी को नहीं सौंप सकते। हमारे पास वह अधिकार नहीं है। हालांकि, खान ने माना कि भारत के साथ मुद्दों के कारण वर्तमान में एशिया कप की मेजबानी के लिए दो स्थानों पर विचार किया जा रहा है।

Posted By: Abhishek Kumar Tiwari

Cricket News inextlive from Cricket News Desk