अस्थाई कनेक्शन के लिए शिविर संचालकों ने नहीं किया आवेदन

विभाग ने शुरू किया खंभों को पॉलीथिन से कवर करने का काम

Meerut. कांवड़ यात्रा को लेकर पुलिस प्रशासन, बिजली विभाग और निगम स्तर पर तैयारियां शुरू हो गई हैं. शहर के सभी कांवड़ मार्ग पर कांवड़ शिविर भी लगने शुरू हो गए हैं लेकिन अभी तक कांवड़ शिविरों के लिए अस्थाई कनेक्शन के आवेदन आने शुरू नहीं हुए हैं. जबकि विद्युत विभाग ने कांवड़ शिविर से पहले ही अस्थाई कनेक्शन लेने की कांवड़ शिविर संयोजकों से अपील की थी. इसी के तहत इस बार भी बिजली विभाग खुद कांवड़ शिविरों में जाकर शिविर संचालकों को कनेक्शन देगा.

शिविरों में होगा फिजिकल वेरिफिकेशन

हर साल कांवड़ के दौरान 400 से अधिक शिविर में शहर में आयोजित होते हैं. मगर इनमें से अधिकतर शिविरों में डायरेक्ट लाइन पर तार डालकर बिजली की व्यवस्था की जाती है. इससे हादसा होने का खतरा बढ़ जाता है. इसको देखते हुए बिजली विभाग लगातार अस्थाई कनेक्शन लेने पर जोर दे रहा है. इसके तहत संबंधित क्षेत्र के विद्युत अधिकारी अपने क्षेत्र के शिविरों में जाकर अस्थाई बिजली कनेक्शन के लिए फिजीकल वेरीफिकेशन करेंगे.

अस्थाई कनेक्शन के बिना किसी भी सेवा शिविर में पावर सप्लाई नहीं होने दी जाएगी. इससे दुर्घटना की संभावना बढ़ जाती है. साथ ही साथ कांवड़ मार्ग के पोल भी कवर किए जा रहे हैं ताकि किसी प्रकार का हादसा न हो.

अरुण पाठक, एसई सिटी

कांवड़ मार्ग पर पोल की कवरिंग

कांवड़ मार्ग पर शिवभक्तों की सुरक्षा और बरसात को देखते हुए बिजली के खंभों को पॉलीथिन से कवर करने का काम भी बिजली विभाग ने मंगलवार से शुरू कर दिया. इस बार पॉलीथिन का रंग ब्लैक न होकर केसरिया है.