LONDON (9 June, Agency): 5 बार की वर्ल्ड चैंपियन आस्ट्रेलियाई टीम को एक बार फिर टीम इंडिया के सामने नतमस्तक होना पड़ा। इंडिया ने वर्ल्ड कप में उसकी लगातार 8 जीतों के सिलसिले पर ब्रेक लगा दिया। इसके साथ ही उसके लगातार 10 वनडे मैचों से चले आ रहे विनिंग स्ट्रीक पर भी ब्रेक लग गया। यह चौथा मौका है, जब इंडिया ने वर्ल्ड कप में आस्ट्रेलिया को शिकस्त दी है। इसका क्रेडिट इंडिया के टॉप ऑर्डर बल्लेबाजों और खासतौर पर तेज गेंदबाजों को जाता है। शिखर धवन (117) की सेंचुरी और कप्तान विराट कोहली (82), रोहित शर्मा 57) और हार्दिक पांड्या (48) के खेल से इंडिया ने केनिंग्टन ओवल मैदान पर आस्ट्रेलिया के खिलाफ  5 विकेट पर 352 बनाए थे, जो वर्ल्ड कप में किसी भी टीम का डिफेंडिंग चैैंपियन टीम के खिलाफ  सबसे बड़ा स्कोर था। इसके जवाब में कंगारू टीम तमाम कोशिशों के बावजूद निर्धारित ओवर्स में सभी विकेट खोकर 316 रन ही बना सकी। 36 रनों की इस जीत के साथ इंडिया ने मौजूदा टूर्नामेंट में अपनी दूसरी जीत को अंजाम तक पहुंचाया।

वॉर्नर-स्मिथ भी न बचा सके

इंडिया की तरह आस्ट्रेलिया की शुरुआत भी अच्छी रही। उसे पहला झटका 61 के कुल स्कोर पर एरोन फिंच (36) के रूप में लगा, जो जडेजा के सटीक थ्रो पर पांड्या द्वारा रन आउट किए गए। इसके बाद वॉर्नर और स्टीव स्मिथ टीम को 100 के पार ले गए। वॉर्नर हाफसेंचुरी पूरी करने के बाद चहल की गेंद पर लपके गए। उन्होंने पारी में 5 चौके जमाए। स्मिथ और ख्वाजा ने टीम को 200 के पार पहंचाया। ख्वाजा बुमराह की गेंद पर प्लेड ऑन हो गए। उन्होंने 4 चौके और एक छक्का जड़ा। स्मिथ का विकेट टर्निंग प्वॉइंट साबित हुआ, जिन्हें भुवनेश्वर की अपील पर अंपायर ने नॉटआउट करार दिया था, लेकिन रिव्यू लेने के बाद उन्हें थर्ड अंपायर ने एलबीडब्ल्यू करार दिया। स्मिथ ने 69 रन बनाए और 5 चौके व एक छक्का जड़ा। इसी ओवर में भुवी ने स्टोइनिश को खाता खोले बिना क्लीन बोल्ड कर इंडिया को मैच में वापस ला दिया। ग्लेन मैक्सवेल (28) चहल का शिकार बने। कूल्टर नाइट (4) और पैट कमिंस (8) को बुमराह ने चलता किया। मिशेल स्टार्क (3) रन आउट हुए। जांपा (1) आखिरी गेंद पर भुवी का शिकार हुए। एलेक्स कैरी 55 रन बनाकर नॉटआउट लौटे। इंडिया के लिए बुमराह ने 3 और भुवी ने 3-3, जबकि चहल ने 2 विकेट चटकाए।

धवन-रोहित की सेंचुरी पार्टनरशिप

पिछले मैच में साउथ अफ्रीका के खिलाफ  सेंचुरी खेलने वाले रोहित शर्मा और धवन ने इंडिया को सधी हुई शुरुआत दिलाई। दोनों बल्लेबाजों ने पहले 10 ओवर में पिच को परखा। शुरुआत में दोनों धीमे रहे, लेकिन बाद में तेजी से रन बनाए। दोनों के बीच पहले विकेट के लिए 127 रनों की बेहतरीन साझेदारी हुई। रोहित को 57 के निजी स्कोर पर विकेटकीपर के हाथों कैच आउट कराकर नाथन कूल्टर नाइल ने इंडिया को पहला झटका दिया। रोहित ने 70 गेंदों पर तीन चौके और एक छक्का लगाया।

धवन की तीसरी वर्ल्ड कप सेंचुरी

रोहित के पवेलियन लौटने के बाद कप्तान विराट कोहली पिच पर आए और उन्होंने धवन के साथ मिलकर पारी को आगे बढ़ाया। कोहली ने दूसरे छोर पर खड़े धवन को अधिक स्ट्राइक दी और सलामी बल्लेबाज ने भी उन्हें निराश नहीं किया। उन्होंने वनडे में अपनी 17वीं, जबकि वर्ल्ड कप मुकाबलों में तीसरी सेंचुरी जड़ी। धवन (117) का अहम विकेट मिशेल स्टार्क ने चटकाया। कोहली और धवन के बीच 93 रनों की साझेदारी हुई। धवन ने 109 गेंदों की अपनी पारी में 16 चौके लगाए।

कोहली-पांड्या की रनबाजी

इसके बाद कोहली ने आलराउंडर हार्दिक पांड्या के साथ मिलकर तेजी से पारी को आगे बढ़ाया। अंत के 10 ओवरों में दोनों बल्लेबाजों ने आस्ट्रेलियाई गेंदबाजों की जमकर खबर ली। दोनों इंडिया को 300 के पार ले गए। तेजी से रन बनाने के चक्कर में पांड्या 48 के निजी स्कोर पर पैट कमिंस का शिकार हुए। उन्होंने 27 गेंदों की अपनी पारी में चार चौके और तीन छक्के जड़े। पांड्या और कोहली के बीच 81 रनों की साझेदारी हुई।

आखिरी 10 ओवर्स में 116 रन

पांड्या के पवेलियन लौटने के बाद महेंद्र सिंह धोनी ने कोहली के साथ मोर्चा संभाला। धोनी को 27 के निजी स्कोर पर स्टोइनिस ने आउट किया। स्टोइनिस ने कोहली को भी पवेलियन भेजा। इंडियन कैप्टन ने 77 गेंदों पर चार चौके और दो छक्के की मदद से 82 रन बनाए। लोकेश राहुल 11 रन बनाकर नॉटआउट रहे। इंडिया ने आखिरी दस ओवर्स में 116 रन बनाए, जबकि आखिरी 5 ओवर्स में 59 रन बनाए। आस्ट्रेलिया की ओर से कमिंस, स्टार्क, कूल्टर नाइल को एक-एक विकेट मिला, जबकि स्टोइनिस ने दो विकट चटकाए।

वर्ल्ड कप में इंडिया का चौथा सबसे बड़ा स्कोर

टीम इंडिया ने वर्ल्ड कप का अपना चौथा सबसे बड़ा स्कोर बनाया। टूर्नामेंट में सबसे अधिक स्कोर बनाने के मामले में आस्ट्रेलिया पहले नंबर पर है। पांच बार की चैैंपियन ने 2015 में अफगानिस्तान के खिलाफ  417 रनों का पहाड़ खड़ा किया था। इसके बाद, इंडियन टीम का नंबर आता है, जिसने 2007 में बरमूडा के खिलाफ  413 रन बनाए थे। वर्ल्ड कप में इंडिया ने अपना दूसरा सबसे बड़ा स्कोर 1999 में श्रीलंका के खिलाफ  (373) बनाया था। 2011 वर्ल्ड कप में इंडिया ने बांग्लादेश के खिलाफ चार विकेट खोकर 370 रन जड़े, जो उसका तीसरा हाईएस्ट स्कोर था।

- रोहित ने आस्ट्रेलिया के खिलाफ  बनाए सबसे तेज 2000 रन

-रोहित शर्मा ने वनडे मैचों में आस्ट्रेलिया के खिलाफ  सबसे तेजी से 2000 रन पूरे कर लिए। रोहित ने महज 37 पारियों में इस टीम के खिलाफ  यह आंकड़ा छुआ।

-उनके अलावा विवियन रिचड्र्स (45), सचिन तेंदुलकर (51) और डेसमंड हेंस (59) ने आस्ट्रेलिया के खिलाफ  2000 या उससे अधिक रन बनाए हैं।

-रोहित ने अब तक कुल 23 सेंचुरीज लगाई हैं और इनमें से सात आस्ट्रेलिया के खिलाफ  हैं। इस टीम के खिलाफ  उनका बेस्ट स्कोर 209 रन रहा है।

बलिदान बैज के बिना उतरे धोनी

इस मैच में इंडियन विकेटकीपर महेंद्र सिंह धोनी अपने ग्लव्स पर बलिदान बैज के बिना उतरे। साउथ अफ्रीका के खिलाफ इस बैज के कारण काफी विवाद हो गया था, जिसके बाद आईसीसी ने नियमों का हवाला देते हुए बीसीसीआई की अपील को ठुकराते हुए धोनी को बिना बैज के उतरने को कहा था। इसके बाद बीसीसीआई के समझाने पर धोनी बिना बैज के उतरने को तैयार हुए।

वर्ल्ड कप में आस्ट्रेलिया के खिलाफ सबसे बड़ा टारगेट

स्कोर   टीम    साल

352/5  इंडिया  2019

291/8  विंडीज  1975

289/6  इंडिया  1987

286/7  पाक   1979

286/9  कीवीज  1996

ICC World cup 2019 : क्या पाकिस्तान जीत जाएगा वर्ल्डकप, ये संयोग देखकर भारतीय फैंस परेशान

नंबर गेम

02 बार किसी टीम ने आस्ट्रेलिया के खिलाफ वर्ल्ड कप में 300 का स्कोर बनाया

01 ओपनिंग पेयर है इंडिया का, जिसने इस वर्ल्ड कप में सेंचुरी जमाई है

1273 रनों की पार्टनरशिप कर चुके हैैं रोहित-शिखर वनडे में कंगारुओं के खिलाफ

03 बार आस्ट्रेलिया के खिलाफ वर्ल्ड कप में पहले विकेट के लिए सेंचुरी पार्टनरशिप हुई

16 सेंचुरी पार्टनरशिप कर चुके हैैं रोहित और शिखर वनडे क्रिकेट में अब तक

04 बल्लेबाज ही आस्ट्रेलिया के खिलाफ 2 हजार से अधिक रन बना सके हैैं वनडे में

Posted By: Shweta Mishra

Cricket News inextlive from Cricket News Desk