रांची (ब्यूरो)। मतदान के दिन सभी बूथों पर आवश्यक रूप से न्यूनतम सुविधाएं उपलब्ध हो तथा कोई भी मतदाता अपने मताधिकार से वंचित न रहे, इसे सुनिश्चित करने का निर्देश दिया है। आयोग ने मंगलवार को एक निजी होटल में पलामू तथा दक्षिणी छोटानागपुर प्रमंडल के जिलों में चुनाव तैयारियों की विस्तार से जिलावार समीक्षा की।

कंप्रेहेंसिव प्लान

झारखंड में कई नक्सल प्रभावित क्षेत्र होने के कारण बैठक में सुरक्षा व्यवस्था की विस्तृत समीक्षा की गई। आयोग ने प्रत्येक बूथों के कंप्रेहेंसिव प्लान में इसे भी शामिल करने का निर्देश दिया कि वहां कौन-कौन से तत्व मतदाताओं को प्रभावित या डरा-धमका सकते हैं। उनके विरुद्ध कार्रवाई का भी निर्देश दिया। लोकसभा चुनाव पूरी तरह शांतिपूर्ण संपन्न कराने की बधाई देते हुए पुलिस अधीक्षकों को विधानसभा चुनाव में और भी सतर्कता बरतने का निर्देश दिया। कहा कि इसके लिए पर्याप्त सुरक्षा बल उपलब्ध कराए जा रहे हैं। साथ ही, सुरक्षा व्यवस्था को और भी टाइट करने का निर्देश दिया। आयोग ने सुरक्षा बलों व अन्य चुनाव कर्मियों को ठहरने व खाने-पीने की सुविधाओं पर पूरा ध्यान देने का निर्देश भी दिया।

नाम जोड़ने का दें मौका

जिलों की तैयारियों पर संतुष्टि जाहिर करते हुए आयोग की टीम ने जो गैप रह गए हैं, उन्हें समय पर पूरा करने का निर्देश दिया। बैठक में कहा गया कि कोई भी योग्य मतदाता मताधिकार से वंचित न हो, इसके लिए छुटे हुए मतदाताओं को नामांकन की अंतिम तिथि तक मतदाता सूची में नाम शामिल कराने का मौका दिया जाए। साथ ही, सभी मतदाताओं को मतदान केंद्रों, उसकी स्थिति, मतदान के समय आदि की पूरी जानकारी अनिवार्य रूप से दी जाए। आयोग ने इसके लिए व्यापक प्रचार-प्रसार करने व जागरूकता कार्यक्रम चलाने का निर्देश उपायुक्तों को दिया। बैठक में मतदान केंद्रों पर उपलब्ध कराई जाने वाली न्यूनतम सुविधाएं जैसे पीने का पानी, शौचालय, बिजली, दिव्यांगों के लिए रैंप, यातायात के साधन आदि की उपलब्धता की गहन समीक्षा की गई। जिन जिलों में कुछ कमियां रह गई थीं, उन्हें शीघ्र दूर करने का निर्देश दिया। बता दें कि सोमवार को आयोग ने बोकारो में उत्तरी छोटानागपुर के जिलों की समीक्षा की थी। शेष दो प्रमंडलों की समीक्षा बाद में होगी।

बदलेगा मतदान का समय

भारत निर्वाचन आयेाग ने मतदान का समय सुबह सात बजे से शाम चार बजे तक निर्धारित किया है। बैठक में कई उपायुक्तों ने समय में बदलाव करते हुए मतदान समाप्ति का समय शाम तीन बजे तक करने का अनुरोध किया। इसपर आयोग के महासचिव ने राज्य के मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी विनय कुमार चौबे को प्रस्ताव भेजने को कहा। मीडिया से रूबरू होते हुए मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी ने पहले चरण की सीटों पर मतदान सुबह सात बजे से शाम तीन बजे तक होने की बात कही।

पैसों के लेन-देन, शराब आदि पर रखें कड़ी नजर

आयोग की टीम ने शाम में आयकर, उत्पाद विभाग, रेलवे तथा अन्य एजेंसियों के साथ भी अलग से बैठक की। इसमें आयोग ने विधानसभा चुनाव के दौरान पैसों के लेन-देन, शराब आदि पर कड़ी नजर रखने तथा आवश्यक कार्रवाई का निर्देश दिया। इसके लिए तैनात किए गए फ्लाइंग स्क्वॉड को चुनाव में पूरी तरह सक्रिय रखने तथा कड़ी मॉनीट¨रग का निर्देश दिया।

मुख्य सचिव व डीजीपी के साथ भी बैठक

आयोग की टीम ने शाम में मुख्य सचिव डाॅ. डीके तिवारी, पुलिस महानिदेशक (डीजीपी) कमल नयन चौबे व अन्य पदाधिकारियों के साथ भी बैठक की। आयोग ने पदाधिकारियों से स्वच्छ व शांतिपूर्ण मतदान सुनिश्चित कराने के लिए सभी आवश्यक कार्रवाई करने का अनुरोध किया।

आयोग ने दिए ये भी निर्देश

- चुनाव में सुरक्षा बलों व चुनाव कर्मियों के साथ किसी तरह की अप्रिय घटना होने पर त्वरित इलाज के लिए एयर एंबुलेंस चौबीसों घंटे तैनात रहे।

- सुरक्षा बलों व चुनाव कर्मियों का कैशलेस ट्रीटमेंट सरकारी व निजी अस्पतालों में सुनिश्चित हो।

- सभी उम्मीदवारों को चुनाव प्रचार के लिए विभिन्न प्रक्रियाओं की अनुमति 24 घंटे तथा हेलीकॉप्टर की अनुमति 38 घंटे के पूर्व अनिवार्य रूप से मिले। इसके लिए सिंगल विंडो सिस्टम लागू हो।

- राज्य व जिला स्तर पर राजनीतिक दलों के साथ नियमित बैठकें हों तथा उनकी शिकायतों का त्वरित निष्पादन हो।

- कॉल सेंटर 1950 पर आने वाली शिकायतों का निपटारा 24 घंटे के भीतर हो।

ranchi@inext.co.in

Posted By: Sudhir Jaiswal