नेहरू पार्क के पास उल्टी साइड से आयी तेज रफ्तार कार ने मासूम को घर के सामने कुचला

गुस्सायी भीड़ ने मजिस्ट्रेट की गाड़ी की आग के हवाले, पुलिस पर पथराव

PRAYAGRAJ: कैण्ट थाना क्षेत्र के नेहरू पार्क स्थित शौच कर रहे चार साल के मासूम को बेकाबू कार ने रौंद दिया. मासूम की मौके पर ही मौत हो गई. घटना के बाद कार पर सवार दो युवक उतरकर पैदल भाग निकले जबकि चालक वाहन के साथ पब्लिक के हत्थे चढ़ गया. पब्लिक ने कार पर पथराव भी किया. पुलिस भी पब्लिक के गुस्से का शिकार बनी. पथराव में तीन पुलिस वाले जख्मी हो गये. एसीएम प्रेम चंद्र मौर्य की गाड़ी को आग के हवाले कर दिया गया. बवाल बढ़ते देख एसएसपी सत्यार्थ अनिरुद्ध पंकज भारी फोर्स के साथ मौके पर पहुंचे.

रोज मचाते हैं मोहल्ले में उत्पात

मोहल्ले के लोगों का आरोप है कि गाड़ी पर सवार तीनों युवक स्थानीय हैं. ये रात में स्मैक, गांजा, शराब का नशा करने के बाद तेज रफ्तार में गाड़ी चलाते हैं. इसकी शिकायत कई बार पुलिस से की गयी, लेकिन कोई भी कार्रवाई नहीं की गई. मृतक का नाम युवराज था. उम्र करीब चार साल थी. उसकी पिता का नाम राबिन है. पब्लिक ने पकड़ने के बाद चेक किया तो कार के अंदर से दारू की बोतल मिली. कार में नेहरू पार्क के पास के ही रहने वाले सतीश उसका भांजा शुभम और मिथुन सवार थे.

नशे में धुत थे कार सवार युवक

मृतक युवराज अर्चना विद्या मंदिर स्कूल में नर्सरी क्लास में पढ़ता था. गुरुवार शाम सात बजे वह घर से कुछ दूरी पर शौच के लिए गया था. इसी दौरान फेद रंग की स्विफ्ट डिजायर गाड़ी ने उसे रांग साइड में जाकर रौंद दिया. मासूम की चीख सुन लोगों ने कार को दौड़ाकर पकड़ लिया. मौके से दो युवक भाग निकले, लेकिन लोगों ने कार के साथ ड्राइवर मिथुन को पकड़ लिया. गुस्साए लोगों ने उसको पीटना शुरू कर दिया. घटना की जानकारी पाकर धूमनगंज पुलिस फोर्स के साथ घटना स्थल पर पहुंची, पर लोगों का गुस्सा देख पुलिस भी भाग खड़ी हुई. बवाल होता देख कुछ देर बाद एसपी सिटी भी पहुंच गये. गुस्साए लोगों को देख फोर्स की हिम्मत नहीं हुई कि आगे जाकर किसी को समझाया जा सके. घटना के आधे घंटे के बाद एसएसपी मौके पर पहुंचे और मोर्चा संभाला.

घर का छोटा बेटा था युवराज

मृतक युवराज के पिता रोबिन एमियस में बिजली का काम करते हैं. पूरा परिवार कैंट थाना क्षेत्र के नेहरू पार्क के पास पत्‍‌नी पूनम और बड़े बेटे विराट एवं छोटे बेटे युवराज के साथ रहते हैं. घटना के समय पत्‍‌नी पूनम और बड़ा बेटा घर में थे. छोटा बेटा युवराज शौच के लिए घर से कुछ दूरी पर निकला था. मां को क्या पता था कि उसके बेटे की मौत बाहर खड़ी है.