उड़ान से पहले ऊंचे पेड़ों से बर्ड हिट का खतरा

2019-02-01T06:01:08Z

-एयरफोर्स की ओर से एयरपोर्ट के रनवे के आसपास ऊंचे पेड़ों की छंटाई के लिए डीएम को लिखा

बरेली-नाथ नगरी एयर टर्मिनल से जल्द से जल्द उड़ान भरने के प्रयास किए जा रहे हैं, लेकिन रनवे के आसपास ऊंचे पेड़ों से बर्ड हिट का खतरा मंडरा रहा है। पैसेंजर्स और क्रू मेंबर्स की सेफ्टी के मद्देनजर एयरफोर्स अधिकारियों ने डीएम को ऊंचे पेड़ों की छंटाई के लिए पत्र लिखा है। इस संबंध में वन विभाग को भी लिखा गया था, लेकिन कोई कार्रवाई नहीं की गई। ऐसे में जब तक पेड़ों की छंटाई नहीं हो जाती, तब तक उड़ान संभव नहीं है।

लंबे समय से है खतरा

सिविल फ्लाइट के लिए नाथ नगरी एयर टर्मिनल का निर्माण किया जा रहा है। पोर्टा केबिन लगभग बनकर तैयार हो गई है। टर्मिनल से एयरफोर्स के रनवे तक टैक्सी वे का निर्माण भी शुरू हो गया है। मार्च के अंत तक फ्लाइट की तैयारी है। ऐसे में फ्लाइट में कोई बाधा न हो, इसके प्रयास किए जा रहे हैं। एयरफोर्स बर्ड हिट के खतरे को लेकर प्रशासन के साथ मीटिंग कर चुका है, जिसमें आसपास पड़ने वाले कूड़े व मांस को हटाने के लिए बोला जा चुका है।

बाउंड्री के बाहर पेड़ों की होनी है छंटाई

एयरफोर्स के अधिकारियों ने डीएम को पत्र में लिखा है बर्ड हिट बड़ी समस्या है। ट्रेनिंग करने वाले क्रू किसी तरह से इस खतरे से बच रहे हैं, लेकिन सिविल फ्लाइट के दौरान इस खतरे को पूरी तरह से दूर करना होगा। रनवे के पास एयरफोर्स की बाउंड्री के बाहर पीलीभीत और नैनीताल रोड पर कई बड़े पेड़ हैं। इन पेड़ों पर पक्षी भी आकर बैठ जाते हैं, जिसकी वजह से उड़ान के दौरान बर्ड हिट का खतरा रहता है। एयरफोर्स स्टेशन के द्वारा इन पेड़ों को चिह्नित कर कटान के लिए जिले के फॉरेस्ट अधिकारियों को लिखा जा चुका है, लेकिन अभी तक पेड़ों की छंटाई नहीं की गई है। ऐसे में अब सिविल फ्लाइट होगी तो पैसेंजर और क्रू की सेफ्टी के लिए पेड़ों की छंटाई जरूरी है।


This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy  and  Cookie Policy.