अमेरिका में मंदिर पर तोड़फोड़ के बाद लिखा ‘गेट आउट’

Updated Date: Wed, 18 Feb 2015 10:52 AM (IST)

मुश्किल से एक करीब बीस दिन पहले भारत की धार्मिक सहिष्णुता पर सवाल उठाने वाले अमेरिकी राष्ट्रपति बराक ओबामा के अपने ही देश में मंदिर को निशाना बनाने की घटना सामने आई है इस मंदिर की दीवार पर पेंट से स्वास्तिक बनाकर नफरत भरा संदेश गेट आउट लिखा गया है.


सिएटल से करीब 36 किमी दूर बोथेल एक मंदिर में तोडफ़ोड़ की गई. उसकी दीवार पर नफरत भरे संदेश लिखे गए. हमलावरों ने मंदिर की दीवार पर पेंट से स्वास्तिक का निशान बनाकर ‘गेट आउट’ लिख दिया.  यह मंदिर अमेरिका के बड़े हिंदू मंदिरों में एक है. स्नोहोमिश काउंटी के शेरिफ का विभाग सेटरडे को हुई इस घटना की जांच ‘द्वेषपूर्ण उत्पीडऩ’ के तौर पर कर रहा है. काउंटी के टॉप आफीशियल्स ने मंदिर का दौरा भी किया है. हिंदू अमेरिकन फाउंडेशन ने घटना की निंदा की है. फाउंडेशन की सदस्य पद्मा कुप्पा ने बताया कि इस घटना से पहले लास्ट सेटरडे को एक मस्जिद में आगजनी की घटना हुई थी. इन घटनाओं से समुदायों के बीच डर और अविश्वास पैदा हो गया है. पहले भी मंदिर बना है निशाना
हिंदू मंदिर एवं सांस्कृतिक केंद्र न्यास बोर्ड बोथेल, वाशिंगटन के अध्यक्ष नित्य निरंजन ने बताया कि कुछ साल पहले भी इस मंदिर की बाहरी दीवार पर किसी ने स्प्रे कर दिया था, लेकिन उस वक्त इसकी शिकायत नहीं की गई थी. अमेरिका में हिंदू मंदिरों को निशाना बनाने की यह पहली घटना नहीं है. पिछले कुछ समय से ऐसी घटनाओं में इजाफा देखा जा रहा है. पिछले साल वर्जीनिया की लोडोउन काउंटी और जॉर्जिया के मोनेरो में ऐसी ही घटनाएं हुई थीं. इसे देखते हुए एक जनवरी 2015 से न्याय विभाग ने हिंदू विरोधी अपराधों को घृणा अपराधों की श्रेणी में लाने का आदेश दिया था. वैसे हैरानी की बात है कि ओबामा के भारत दौरे के बाद से एंटी इंडिया मूवमेंट काफी ज्याकदा दिखने लगे हैं. मंदिर पर तो अटैक हुआ ही है इससे पहले इंडियन सिटीजन को भी टारगेट करने के ताजे मामले भी सामने आए हैं जिसमें एक बुजुर्ग और इंडियन अमेरिकन बिजनेस मैन पर अटैक के इंसीडैंट शामिल हैं. कुछ दिन पहले ही ओबामा ने इंडिया पर धार्मिक सहिष्णुता में कमी आने का आरोप लगाया था, लेकिन अब उनकी ही कंट्री में जो हो रहा है वो चौंकाने वाला है.

Hindi News from World News Desk

Posted By: Molly Seth
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy  and  Cookie Policy.