'कपड़े फाड़े और उससे भी आगे बढ़ गए तरुण' तेजपाल के प्रायश्चित से सोशल मीडिया में 'तहलका'

2013-11-21T10:48:00Z

अपनी बेटी की उम्र की पत्रकार के यौन उत्पीड़न के आरोप में घिरे 'तहलका' पत्रिका के प्रमुख संपादक तरुण तेजपाल प्रायश्चित स्वरूप खुद ही 6 महीने की छुट्टी पर चले गए हैं संस्थान से खुद को अलग करने की सूचना तेजपाल ने ईमेल के जरिए तहलका की प्रबंध संपादक शोमा चटर्जी को दे दी है शोमा ने तेजपाल के इस तरह संस्थान से हटने के बारे में अधिक बात न करते हुए कहा कि यह हमारा आंतरिक मामला है वहीं तेजपाल के इस प्रायश्चित पर सवाल खड़े होने लगे हैं

बिना शर्त माफी
क्या लिखा है पत्र में.. पत्र में तेजपाल ने कहा कि पिछले कुछ दिन बहुत परीक्षा वाले रहे और मैं पूरी तरह इसकी जिम्मेदारी लेता हूं. एक गलत तरह से लिए फैसले, परिस्थिति को खराब तरह से लेने के चलते एक दुर्भाग्यपूर्ण घटना हुई जो उन सभी चीजों के खिलाफ है जिनमें हम विश्वास करते हैं और जिनके लिए संघर्ष करते हैं. उन्होंने कहा कि मैंने संबंधित पत्रकार से अपने दु‌र्व्यवहार के लिए पहले ही बिना शर्त माफी मांग ली है लेकिन मैं महसूस कर रहा हूं कि और प्रायश्चित की जरूरत है. तहलका के संस्थापक सदस्य तेजपाल ने अपने पत्र में लिखा है, क्योंकि इसमें तहलका का नाम जुड़ा है और एक उत्कृष्ट परंपरा की बात है, इसलिए मैं महसूस करता हूं कि केवल शब्दों से प्रायश्चित नहीं होगा. मुझे ऐसा प्रायश्चित करना चाहिए जो मुझे सबक दे. इसलिए मैं तहलका के संपादक पद से और तहलका के दफ्तर से अगले छह महीने के लिए खुद को दूर करने की पेशकश कर रहा हूं.

घटना के बाद से ही सदमे में पीडि़त
दो बार हुआ यौन उत्पीड़न! मीडिया में जो खबरें छनकर आ रही हैं, उसके अनुसार पीड़ित लड़की बहुत कम उम्र की है और घटना के बाद से ही सदमे में है. पीड़िता के साथ दो बार यौन उत्पीड़न हुआ और यह तब हुआ जब 'थिंक इवेंट' चल रहा था. पीड़िता तरुण की बेटी की उम्र की है. उसने यौन उत्पीड़न की शिकायत ई-मेल के जरिए की है. इस बारे में उसने तरुण की बेटी को भी बताया. पीड़ित लड़की के पिता भी तरुण के दोस्त हैं.
थिंक इवेंट के दौरान घटी घटना
कपड़े फाड़ दिए और उससे भी आगे बढ़ गए..बताया जा रहा है कि यह घटना पिछले सप्ताह गोवा में 'थिंक इवेंट' के दौरान घटी. नशे की हालत में तरुण ने इस लड़की का यौन उत्पीड़न किया. उन्होंने उसके कपड़े फाड़ दिए और उससे भी आगे बढ़ गए...
मेरे पिता के समान
लड़की ने अपनी शिकायत में लिखा कि मैं उनकी बहुत इज्जत करती हूं. वे मेरे पिता के समान हैं. उन्होंने 2 बार मेरे साथ हरकत की और मैं रोते हुए अपने कमरे में आई. मैंने अपने साथ हुई हरकत के बारे में पत्रिका के तीन सहयोगियों को बताया. लड़की ने लिखा कि जब मैंने अपने साथ हुई शर्मनाक घटना के बारे में तरुण की बेटी को बताया तो तरुण काफी नाराज हो गए.. मैं डर गई थी...
छह महीने नहीं रहेंगे संपादक
मेल से दी सूचना शोमा चौधरी ने तहलका के अन्य कर्मियों को एक मेल भेजकर घटनाक्रम की जानकारी दी. उन्होंने कहा, 'यह आपमें से कई लोगों के लिए अजीब हैरानी की बात हो सकती है. एक अप्रिय घटना घटी और तरुण तेजपाल ने इस मामले में शामिल अपनी सहयोगी से बिना शर्त माफी मांगी है. वह अगले 6 महीने के लिए तहलका के संपादक पद से अलग रहेंगे.'
सोशल साइट्स पर थू-थू
सोशल साइटों पर हुई थू-थू मीडिया जगत में तरुण तेजपाल का नाम काफी पुराना है और तहलका जैसे संस्थान में रहकर उन्होंने कई सनसनीखेज प्रकरण उजागर किए हैं. उन पर यौन उत्पीड़न का आरोप लगने के बाद सोशल साइटों पर टिप्पणियों की बाढ़ सी आ गई है और मीडिया में भी सवाल खड़ा हो रहा है कि यह मामला पुलिस में क्यों नहीं जा रहा है? क्या इस खुलासे के बाद पुलिस खुद संज्ञान ले सकती है? खुद ही जज बनकर प्रायश्चित करने का यह फैसला कितना उचित है? फेसबुक पर आए कुछ कमेंट इस प्रकार है:
वैशाली वैद्य: डरावने गंदे लोग और उनकी गंदी सोच
रिसू रुंगटा: मारो इनको
राघवेंद्र नारायण: ये लो भईया तहलका के संपादक तरुण तेजपाल ने अपनी बेटी की दोस्त का दो बार .. करके तहलका मचाया और अब खुद जज बनके खुद को सजा दे डाली सजा क्या दी खुद को 6 महीने तक संपादिकी नहीं करेंगे ये महाशय ऐसी सजा तो हर .. चाहेगा.
टाइमलाइन फोटो: तहलका के संचालक तरुण तेजपाल जो बड़ा तहलका मचाते हैं, अपनी खबरों से आज उनकी एक खबर.. तहलका मचा रही है..
गौरव शर्मा: ये है मीडिया का असली चेहरा.. शेम..शेम..शेम



This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy  and  Cookie Policy.