सदन की बैठक में पार्षदों का हंगामा, माइक फेकीं

Updated Date: Sun, 01 Mar 2020 05:30 AM (IST)

विकास कार्य को लेकर मुखर रहे पार्षद,

महिला पार्षदों ने दिया धरना

VARANASI

टाउनहाल में शनिवार को नगर निगम सदन की बैठक हंगामेदार रही। निगम प्रशासन के रवैये पर पार्षदों ने नाराजगी जताई। अध्यक्ष के बार-बार के आदेश के बावजूद जेई से विवाद के मामले में मुकदमा वापस नहीं होने पर भाजपा पार्षद लकी वर्मा आक्रोशित हो गए। गुस्से में आकर उन्होंने माइक फेंक दी। इस दौरान सदन में दस मिनट तक हगांमा होता रहा। इस बीच महिला पार्षद अध्यक्ष के आसन के पास आकर धरने पर बैठ गई और निगम प्रशासन के काम शुरू कराने के आश्वासन पर ही मानी। उधर, लगभग साढे तीन घंटे तक चली कार्यवाही में पार्षदों ने नगर निगम प्रशासन के खिड़किया घाट पर सीएनजी स्टेशन के लिए गेल को जमीन देने और नगर निगम की सड़के पीडब्ल्यूडी को देने सहित चार प्रस्तावों को खारिज कर दिया।

काम रोको प्रस्ताव

दोपहर बारह बजे सदन की कार्यवाही जब शुरू हुई तो भाजपा के राजेश यादव चल्लू ने काम रोको प्रस्ताव लाया। इसका समर्थन भाजपा के साथ कांग्रेस, सपा और निर्दल पार्षदों ने किया। इस पर चर्चा के दौरान पार्षदों ने कहा कि मुख्य अभियंता के कारण क्षेत्र में विकास कार्य नहीं हो रहे हैं। इससे जनता में आक्रोश है। वे फाइलों को केवल घुमा रहे हैं। चर्चा के दौरान कुछ दिन पूर्व सिकरौल के पार्षद दिनेश यादव के साथ हुई बहस के बाद मुख्य अभियंता द्वारा नगर आयुक्त को पत्र भेजकर जान को खतरा बताने के मामले पर सभी दलों के पार्षद आक्रोशित थे। इस दौरान लकी वर्मा ने अपने ऊपर निगम प्रशासन द्वारा किए गए मुकदमे को वापस करने की मांग करते हुए इतने आक्रोशित हो गए कि माइक ही फेंक दी। उनका कहना था कि महापौर के बार-बार कहने के बावजूद मुकदमा हटाने की कार्रवाई नहीं की जा रही है। इस दौरान दस मिनट तक सदन में हंगामा होता रहा। बाद में उपसभापति नरसिंह दास ने स्थिति को संभाला तब जाकर सदन की कार्यवाही आगे बढ़ी। इसके बाद प्रशांत सिंह पिंकू ने ढाई साल पूर्व 25 पार्षदों का मुद्दा उठाया। इस पर सभापति मृदुला जायसवाल ने प्रभारी नगर आयुक्त को निर्देशित किया कि पार्षदों के सभी मुकदमे हटाए जाए। प्रभारी नगर आयुक्त देवी दयाल वर्मा ने कहा कि तीन दिन के अंदर इस मामले में विधिक राय लेकर आगे की कार्रवाई की जाएगी।

समिति गठित

नगर निगम सीमा में स्थित दुकानों का किराया तय करने के लिए शनिवार को सदन ने ग्यारह सदस्यों की समिति गठित कर दी। समिति वर्तमान सर्किल रेट के आधार पर दुकानों का किराया तय करके निगम प्रशासन को रिपोर्ट देगी। समिति में राजेश केशरी, सीताराम केसरी, अजीत सिंह, कमल पटेल, मनोज यादव, रोहित जायसवाल, अफजाल अंसारी, बृजेश चंद्र श्रीवास्तव, पूर्णमासी गुप्ता, डॉ। रवींद्र सिंह और चंद्रनाथ मुखर्जी शामिल हैं।

Posted By: Inextlive
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy  and  Cookie Policy.