-पांच के खिलाफ हत्या की रिपोर्ट दर्ज, पोस्टमार्टम बाद मौत का कारण मिला जहर

-आरोपितों से दो साला पुराना विवाद बता रहे हैं परिजन, चल रहा है मुकदमा

PRAYAGRAJ: गंगापार स्थित नवाबगंज के पहलवान का पूरा निवासी भोलानाथ सरोज (55) की मंगलवार रात पीट-पीटकर हत्या कर दी गई. घटना की वजह पुरानी रंजिश बताई गई. बुधवार को उसका शव घर के पास खेत में मिला. खेत में शव मिलने की खबर सुन गांव में सन्नाटा पसर गया. सूचना पर पहुंची पुलिस ने मौके पर छानबीन की. दोपहर बाद हुए पोस्टमार्टम में उसकी मौत का कारण जहर पाया गया. हालांकि पत्नी धनपती देवी ने गांव के ही पांच लोगों के खिलाफ हत्या की तहरीर दी है. पांचों आरोपितों के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज कर पुलिस ने जांच शुरू कर दिया है.

निकला था टहलने

पहलवान का पूरा निवासी भोलानाथ सरोज पुत्र सुग्रीव सरोज पांच भाइयों में सबसे बड़ा था. उसके चार बेटे व एक बेटी है. पत्नी धनपती देवी है. वह मेहनत मजदूरी कर परिवार पालता था. परिजन बताते हैं कि मंगलवार की शाम वह टहलने निकला. जब देर रात नहीं लौटा तो परिवार के लोग तलाश में जुट गए. सुबह कुछ ग्रामीण गांव से करीब 100 मीटर दूर स्थित खेत भानसिंह के खेत की तरफ गए थे. खेत में भोलानाथ का शव देख उनके होश उड़ गए. ग्रामीणों ने जानकारी परिजनों को दी. खबर मिलते ही पूरे परिवार में कोहराम मच गया.

शरीर पर पिटाई के निशान

साला रामकैलाश ने बताया कि जीजा भोलानाथ की पीठ पर डंडे से पिटाई के निशान थे. कूल्हे पर घाव था और सिर के पीछे कान के बगल भी चोट लगी थी. खबर मिलते ही पुलिस मौके जा पहुंची. घटनास्थल का मुआयना करने के बाद पुलिस ने शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया. पोस्टमार्टम हाउस से जुड़े सूत्रों के मुताबिक पोस्टमार्टम में उसकी मौत का कारण जहर पाया गया है. उधर मृतक भोलानाथ सरोज की पत्नी धनपती देवी की तहरीर पर पुलिस ने गांव के ही संतोष तिवारी, कृष्ण कुमार तिवारी, गुड्डू तिवारी सहित पांच के खिलाफ हत्या की रिपोर्ट दर्ज कर जांच शुरू कर दी है. परिजनों ने बताया कि हत्या के पीछे आरोपितों से पुरानी रंजिश है. 2017 में आरोपितों ने भोलानाथ को खेत में दवा छिड़कने के लिए बुलाया था. उसने इंकार किया तो वह उसकी जमकर पिटाई कर दिए थे.

वर्जन

खेत में शव पाया गया है. मृतक की पत्नी की तहरीर पर हत्या की रिपोर्ट नवाबगंज थाने में दर्ज की गई है. पोस्टमार्टम रिपोर्ट आने के बाद उसी के आधार पर आगे की कार्रवाई की जाएगी.

-नरेंद्र कुमार सिंह, एसपी गंगापार