नई दिल्ली (पीटीआई/एएनआई)।  बीजेपी नेता और कोटा से सांसद ओम बिरला लोकसभा स्पीकर बन गए हैं। 57 साल के बिरला तीन बार राजस्थान से विधायक और दो बार सांसद रह चुके हैं।

पीएम नरेंद्र और अमित शाह के करीबी
सूत्रों का कहना है कि बिरला का नाम पीएम नरेंद्र मोदी ने खुद इस पद के लिए चुना था। राजस्थान के नेता को मोदी और भाजपा अध्यक्ष अमित शाह दोनों का करीबी माना जाता है।

2014 में पहला लोकसभा चुनाव जीता
बिड़ला ने 2014 में पहला लोकसभा चुनाव जीता था और इस साल फिर से राजस्थान की कोटा-बूंदी सीट पर कांग्रेस के रामनारायण मीणा को 2.5 लाख से अधिक मतों से हराया।

ओम ने वाणिज्य में मास्टर्स की पढ़ाई  
23 नवंबर 1962 को जन्मे भाजपा नेता ओम बिरला ने कोटा के गवर्नमेंट कॉमर्स कॉलेज और महर्षि दयानंद सरस्वती विश्वविद्यालय अजमेर से वाणिज्य में मास्टर्स की पढ़ाई की है।

छात्र नेता के रूप में राजनीतिक यात्रा शुरू की
57 वर्षीय नेता ओम बिरला ने एक छात्र नेता के रूप में राजनीतिक यात्रा शुरू की थी। उन्होंने 1991 में भारतीय युवा मोर्चा के राज्य इकाई अध्यक्ष और राष्ट्रीय स्तर पर उपाध्यक्ष के रूप में कार्य किया है।

वसुंधरा राजे सरकार में संसदीय सचिव रहे
ओम बिरला 2003, 2008 और 2013 में लगातार तीन बार राजस्थान विधानसभा के लिए चुने गए। ओम 2003 से 2008 तक वसुंधरा राजे सरकार में संसदीय सचिव थे।

इन पदों पर भी रह चुके हैं ओम बिरला
ओम पिछली लोकसभा में ऊर्जा संबंधी स्थायी समिति के सदस्य और सामाजिक न्याय और अधिकारिता मंत्रालय के लिए याचिकाओं और परामर्शदात्री समिति की समिति के सदस्य थे।

ओम बिरला समाज सेवा में जुड़े रहते हैं
ओम बिरला ने कई सामाजिक कल्याण कार्यक्रमों शुरू कराए। उन्होंने तन ढकने के लिए निःशुल्क परिधान उपहार केन्द्र खुलावाया। गरीब बच्चों को किताबें आदि भी वितरित कराते हैं।
ओम बिरला हो सकते हैं अगले लोकसभा स्पीकर
स्पीकर के लिए वरिष्ठता देखी जाती है
ओम बिरला से पहले भी पहली बार और दूसरी बार बने सांसद लोकसभा स्पीकर चुने जा चुके हैं। जीएमसी बालयोगी भी दो बार के सांसद थे और  1996 में और मनोहर जोशी पहली बार सांसद बनने पर 2002 में लोकसभा स्पीकर बने थे।

National News inextlive from India News Desk