नई दिल्ली (आईएएनएस)। प्याज की बढ़ी कीमतों से लोगों को काफी परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है लेकिन इसी बीच ग्राहकों के लिए एक राहत भरी खबर सामने आई है। सरकार 5,500 टन प्याज के आयात के जरिए आपूर्ति में तेजी ला रही है, इससे जल्द ही खुदरा बाजारों पर असर पड़ेगा। इसमें से 2,500 टन प्याज पहले से ही भारतीय बंदरगाहों में पहुंच चुके हैं। यह प्याज कुल 80 कंटेनरों में हैं, जिनमें से 70 कंटेनर मिस्र से और 10 नीदरलैंड से आयात किए गए हैं। कृषि मंत्रालय के सूत्रों ने बताया कि और 3,000 टन प्याज रास्ते में हैं, जो लगभग 100 कंटेनरों में हैं।

प्याज के निर्यात पर सरकार ने लगाई रोक, कीमत नियंत्रण को लेकर उठाया कदम

100 रुपये प्रति किलोग्राम तक पहुंच गया है प्याज का दाम

बता दें कि इन दिनों प्याज की आपूर्ति कम है क्योंकि इस साल अनियमित बारिश ने 30-40 प्रतिशत तक उत्पादन प्रभावित किया है और उसकी कीमत बाजार में 100 रुपये प्रति किलोग्राम को पार कर गई है। भारत में बढ़ते प्याज के दाम और क्राइसिस को लेकर उपभोक्ता मामलों के विभाग (डीओसीए) ने मंगलवार को एक बैठक की थी। इसमें डीओसीए ने एक अंतर मंत्रालय समिति के माध्यम से केंद्र सरकार को सलाह दी थी कि देश में प्याज की आपूर्ति के लिए दूसरे देशों से प्याज के आयात को सुविधाजनक बनाने पर काम किया जाना चाहिए। इस बैठक के दौरान यह फैसला लिया गया कि अफगानिस्तान, मिस्र, तुर्की और ईरान में भारतीय दूतावासों से प्याज के आयात के लिए अनुरोध किया जाएगा ताकि भारत में ठीक तरह से उसकी आपूर्ति हो सके।

Posted By: Mukul Kumar

Business News inextlive from Business News Desk