-कस्टमर्स के छूने व उनके ड्रापलेट्स गिरने से फैल सकता है कोरोना

-पुलिस दुकानदारों से टंगे कपड़ों को अंदर रखने की दे रही चेतावनी

बरेली-लॉकडाउन 4 में पब्लिक को राहत देने के लिए मार्केट ओपन करने के आदेश दिए गए हैं। डिस्ट्रक्ट एडमिनिस्ट्रेशन ने शहर में रोस्टर के मुताबिक दुकानों खोलने का आदेश दिया। इसी के तहत सैटरडे को दूसरी बार कपड़ा व रेडीमेड शॉप्स ओपन हुईं लेकिन दुकानदारों ने दुकान खोलने के साथ-साथ पहले की तरह ही दुकानों को सजाना शुरू कर दिया है। दुकानों के बाहर खुले में कपड़े टांगे जा रहे हैं। बाहर खुले में टंगे कपड़ों से कोरोना फैलने का खतरा बढ़ गया है, क्योंकि शॉपिंग करने आ रहे कस्टमर बाहर टंगें कपड़ों को बार-बार टच कर रहे हैं और इन कपड़ों पर ड्रापलेट्स के गिरने का भी खतरा है। यही वजह है कि अब पुलिस दुकानदारों से बाहर टंगे कपड़ों को उतारकर अंदर टांगने के लिए बोल रही है।

कोतवाली एरिया में मेन मार्केट

बता दें कि कपड़ा, रेडीमेड का सबसे बड़ा मार्केट कोतवाली और किला थाना एरिया में है। क्योंकि सिविल लाइंस, कुतुबखाना, बड़ा बाजार समेत अन्य मार्केट इन्हीं थाना क्षेत्रों में हैं। इसके अलावा कुछ मार्केट प्रेमनगर थाना एरिया में हैं। कोतवाली एरिया में मेन मार्केट होने के चलते यहां की पुलिस लगातार विजिट कर रही है। सैटरडे को जब पुलिस ने विजिट की तो देखा कि अधिकांश दुकानदारों ने दुकानों के बाहर साड़ी, सूट, व अन्य कपड़े टांग रहे थे। खरीददार बार-बार इन कपड़ों को छूकर देख रहे थे। यही नहीं कई लोग मास्क भी नहीं पहने थे, जिसकी वजह से उनके ड्रापलेट गिरने का खतरा था। इसके अलावा कई दुकानों के बाहर सोशल डिस्टेसिंग का भी पालन नहीं हो रहा था, जिसके चलते पुलिस ने दुकानदारों से सख्ती कर बाहर टंगे कपड़े उतरवाकर अंदर रखवाए। पुलिस ने कई दुकानदार और ग्राहकों के मास्क न पहनने पर चालान भी किए।

दुकानदार रख रहे सैनेटाइजर

पुलिस की मानें तो कई दुकानदार कोरोना को लेकर अवेयर हैं। वह अपना माल पैक करके रख रहे हैं और दुकान में सैनेटाइजर भी रख रहे हैं। वह कस्टमर की डिमांड पर कपड़ा दिखाते हैं और माल पैककर दे देते हैं। जो कपड़ा कस्टमर नहीं लेता है, उसे बाद में सैनेटाइज करके रख देते हैं। वह बार-बार हाथों को भी सैनेटाइज कर रहे हैं। एसएचओ गीतेश कपिल ने बताया कि दुकानदारों को अंदर ही कपड़े रखने के लिए बोला है। उनसे सोशल डिस्टेसिंग का पालन कराने के भी निर्देश दिए हैं। जो दुकानदार नहीं मानेंगे उनके खिलाफ एक्शन लिया जा रहा है।

विधायक ने बोला है रेहड़ी लगाने को

कपड़ा और रेडीमेड की दुकानों को खोलने का प्रशासन ने आदेश दिया है लेकिन फड़ व रेहड़ी पर रेडीमेड व कपड़ों की दुकान लगाने वाले दुकानदार परेशान हैं। वह अपनी दुकान तो लगा ले रहे हैं लेकिन प्रशासन की ओर से कोई आदेश न होने और इन दुकानों पर भीड़ होने की वजह से पुलिस इन्हें हटवा दे रही है। सैटरडे को भी पुलिस फड़ और रेहड़ी पर लगे कपड़ों व रेडीमेड की दुकानें हटवानें पहुंची तो कुमार टॉकिज के सामने एक दुकानदार पुलिसकर्मियों से भिड़ गया। उसने पुलिस से कहा कि विधायक से बात हो गई है उन्होंने दुकान खोलने के लिए बोला है। यही नहीं उसने फोन पर विधायक से सिपाही की बात भी करा दी। इस पर सिपाही ने अपने अधिकारियों से बात करने के लिए कहा तो उसने कहा कि विधायक ने अधिकारियों से बात कर ली है। जब इस बारे में कोतवाली इंस्पेक्टर को पता चला तो उन्होंने दुकानदार को फटकार लगाई और उसके खिलाफ एफआईआर दर्ज करने की चेतावनी दी, तब दुकानदार माना।

Posted By: Inextlive

inext-banner
inext-banner