मुंबई (पीटीआई) सोमवार को बैंकिंग और ऑटो शेयरों में भारी बिकवाली से सेंसेक्स 1,069 अंक तक टूट गया क्योंकि सरकार का प्रोत्साहन पैकेज घरेलू निवेशकों में विश्वास को पुनर्जीवित करने में विफल रहा। 30 शेयरों वाला बीएसई सेंसेक्स 1,068.75 अंक या 3.44 फीसदी की गिरावट के साथ 30,028.98 अंक पर बंद हुआ। वहीं, एनएसई निफ्टी 313.60 अंक या 3.43 फीसदी गिरकर 8,823.25 अंक पर बंद हुआ।

इंडसइंड बैंक रहा टॉप लूजर

सेंसेक्स में इंडसइंड बैंक टॉप लूजर रहा, जिसमें लगभग 10 प्रतिशत की गिरावट आई। इसके बाद एचडीएफसी, मारुति सुजुकी, एक्सिस बैंक और अल्ट्राटेक सीमेंट के शेयर्स भी बढ़त से काफी पीछे रहे। दूसरी ओर, टीसीएस, इंफोसिस, आईटीसी और एचसीएल टेक बढ़त के साथ बंद हुए। आंनद राठी में हेड- इक्विटी रिसर्च (फंडामेंटल) नरेंद्र सोलंकी ने कहा कि व्यापारियों और निवेशकों के बीच चिंताएं बनी रही क्योंकि गृह मंत्रालय ने कोरोना वायरस के प्रसार को रोकने के लिए 31 मई तक दो सप्ताह के लिए देश में लॉकडाउन बढ़ा दिया है। उन्होंने कहा कि राहत पैकेज की घोषणाएं घरेलू बाजार में गहन बिकवाली को गति प्रदान करते हुए किसी भी मांग सुधारों पर बाजार की अपेक्षाओं को पूरा करती हुई नहीं दिखाई दीं।

Posted By: Mukul Kumar

Business News inextlive from Business News Desk

inext-banner
inext-banner