सफलता के लिए सबसे पहले यह जरूरी है कि हमारी दैनिक दिनचर्या के टूल्स, सामान, चीजें सभी सही हों और हम भी अपने जीवन में पूर्ण रूप से व्यवस्थित हों। यदि हम अपने मोबाइल पर भी बहुत ज्यादा इंटरनेट से अपने कार्य करते हैं, तो उसके लिए भी यदि हम वास्तु वाइब्स के अनुसार नॉर्थ ईस्ट में काम करेंगे या दक्षिण से पश्चिम तक की दिशा क्षेत्र में काम करेंगे, तो कामों के सुचारू रूप से होने में मदद मिलेगी। यदि घर या कार्यालय का दिशा क्षेत्र सही होगा, तो यहां मन भी लगेगा कार्यों को पूरा करने में।

इसी तरह से कंप्यूटर्स का भी आज हमारे जीवन में महत्वपूर्ण योगदान है। कंप्यूटर यदि घर में है और उनसे कार्य किया जा रहा है, तो वह दक्षिण और पश्चिम दिशा क्षेत्र में लाभदायक होंगे। फिर वह भले ही बच्चों के लिए लगा हो या बड़ों के लिए। यह दिशा क्षेत्र बच्चों को कंप्यूटर द्वारा पढ़ाई में लाभ देगा। यहां पर किया हुआ कार्य बच्चों में ध्यान की प्रवृत्ति को बढ़ाएगा। उत्तर दिशा में रखा हुआ कंप्यूटर करियर के लिहाज से अच्छा होगा। यहां कार्य करने से बड़ों में काम के प्रति रुझान और एकाग्रता बढ़ेगी जो लोग अपने करियर में या इस दिशा को लेकर किसी तरह के भ्रम में रहते हैं या अपने करियर को लेकर कोई फैसला नहीं ले पाते हैं, उनके लिए भी यह स्थान लाभदायक होता है।

यदि लोग यहां अपना डेस्कटॉप, कंप्यूटर रखकर काम करते हैं, तो यह उनकी सोच में सकारात्मक परिवर्तन लाता है। यहां टीवी का ना होना अच्छा है और यदि कोई म्यूजिक सिस्टम भी नहीं रखा है, तो और भी अच्छा है। यहां उत्तर की ओर पूर्व से पूर्व तक की तरंगें सुचारू रूप से कार्य करेंगी। यह अवश्य ध्यान दें कि घर में या कार्यलय में इस कोने में पूरी तरह साफ-सफाई हो। जो लोग कंप्यूटर पर धार्मिक या अन्य इसी तरह के कार्य करते हैं, उनके लिए दक्षिण दिशा का साथ उनको मिलता है।

हमारे कार्यलय में जब भी कोई नया वर्कर काम के लिए आता है, तो काम करते-करते उसका स्वभाव उग्र होना शुरू हो जाता है और फिर वह काम छोड़कर चला जाता है। क्या यह वास्तुदोष के कारण है? हमारे बॉस दक्षिण दिशा में बैठते हैं, कार्यालय पूर्व मुखी है।विपुल श्रीवास्तव

हां, यह वास्तुदोष के कारण है। ऐसा आपके यहां पिछले डेढ़ साल से हो रहा होगा। आपके ऑफिस क्लटर बहुत हैं और बेकार के इलेक्ट्रिक उपकरण भी बहुत पड़े हैं। उन्हें हटाएं। सफाई कराएं। उत्तर से पूर्व दिशा तक का क्षेत्र भी अच्छे से साफ कराएं। रोज लेवेंडर की धूप-बत्ती जलाएं।

-प्रेम पंजवानी

Vastu Tips: घर बनवाते समय उत्तर पूर्व की तरफ ज्यादा जगह छोड़ें, मिलेगी जीवनदायी ऊर्जा

Posted By: Vandana Sharma

Spiritual News inextlive from Spiritual News Desk