कानपुर धरती के 'भगवान' ने फिर मचाया 'तांडव'

2019-03-15T10:40:32Z

एलएलआर इमरजेंसी के सर्जरी वॉर्ड में तीमारदारों और जूनियर डॉक्टर्स के बीच जमकर मारपीट के बाद तोड़फोड़

- पेशेंट की मौत के बाद भड़का तीमारदारों का गुस्सा, मारपीट में घायल पेशेंट का बेटा आईसीयू में, दूसरा हिरासत में

kanpur@inext.co.in
KANPUR: एलएलआर हास्पिटल की इमरजेंसी में थर्सडे सुबह इलाज के दौरान अधेड़ की मौत से गुस्साए तीमारदारों ने एक जूनियर डॉक्टर को पीट दिया. इसके बाद गुस्साए जूनियर डॉक्टर्स ने भी तीमारदारों को पीटा. इस बीच इमरजेंसी में जमकर तोड़फोड़ भी हुई. जिसके बाद जूनियर डॉक्टर्स ने काम बंद कर दिया. बवाल की सूचना पर कई थानों के फोर्स के साथ मेडिकल कॉलेज प्रिंसिपल, एसआईसी व अन्य अधिकारी पहुंचे. मारपीट में अधेड़ के बेटे और भतीजे की हालत बेहद खराब हो गई. भतीजे को जहां पुलिस थाने ले आई वहीं बेटे को इलाज के लिए आईसीयू में भर्ती करना पड़ा.

पिता की मौत पर फूटा गुस्सा
बिल्हौर के देव्हा गांव निवासी विजय तिवारी(45) को पेट में कैंसर था. थर्सडे को सुबह हालत काफी बिगड़ने पर बेटा सूरज और भतीजा दीपक उन्हें लेकर 5 बजे के करीब हैलट इमरजेंसी पहुंचे. यहां सर्जरी वार्ड में दिखाने पर डयूटी पर मौजूद जेआर डॉ.हिमांशु, डॉ.विनीत ने इलाज शुरू किया. सुबह 5.47 बजे वह भर्ती हुआ. मुंह ने नली डालने के दौरान ही विजय तिवारी की मौत हो गई. आरोप है कि पिता की मौत से भड़के सूरज और दीपक वार्ड में कई लोगों के साथ पहुंचे और इलाज कर रहे डॉ.हिमांशु को पीट दिया. जेआर की पिटाई की सूचना पर इमरजेंसी के सभी जेआर वहां पहुंचे और उन्होंने भी तीमारदारों को पीट दिया.

पीटने वालों को गंभीर चोटें
इमरजेंसी में मारपीट और तोड़फोड़ से नाराज जूनियर डॉक्टर्स ने तीमारदारों पर मारपीट का आरोप लगाया. जिन जूनियर डॉक्टर्स के साथ मारपीट हुई उनके नाम डॉ.हिमांशु, डॉ.विनीत, डॉ.अदिवित, डॉ.संजय और डॉ.राजेश बताए जा रहे हैं. सभी जेआर वन हैं. वहीं जिन तीमारदारों पर मारपीट का आरोप लगा उसमें से एक मृतक विजय के बेटे सूरज के हाथ में गंभीर चोट आई जिसके बाद उसे इमरजेंसी में भर्ती कराया गया है. जबकि भतीजे दीपक तिवारी को भी काफी चोटें आई हैं, स्वरूप नगर पुलिस ने उसे हिरासत में ले रखा है.

जेआर ने बंद किया काम
मारपीट के बाद पूरे हैलट के जूनियर डॉक्टर्स इमरजेंसी में इकट्ठा हो गए. इसका असर इमरजेंसी,ओपीडी और वार्डो में भी दिखा. हालात को संभालने के लिए मेडिकल कालेज प्रिंसिपल डॉ.आरती लालचंदानी, एसआईसी डॉ.आरके मौर्या, सर्जरी विभाग के हेड प्रो.संजय काला समेत कई सीनियर फैकल्टी मेंबर्स मौके पर पहुंचे. स्वरूप नगर सर्किल का फोर्स भी मौके पर पहुंच गया. जूनियर डॉक्टर्स से मारपीट और तोड़फोड़ पर प्रिंसिपल ने नाराजगी जताई. इस दौरान मृतक विजय तिवारी के शव को मोर्चरी में रखवा दिया गया. शाम को पोस्टमार्टम के बाद शव को परिजनों को सौंप दिया गया. शाम तक किसी पक्ष की ओर से थाने में कोई तहरीर नहीं दी गई थी.


This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy  and  Cookie Policy.