प्री-मॉनसून में डूबा शहर, आगे क्या होगा?

Updated Date: Sun, 31 May 2020 01:30 PM (IST)

-सैटरडे शाम हुई जोरदार बारिश से शहर की गलियां मेन रोड्स से लेकर चौराहे तक बने तालाब बारिश रुकी तो भीषण जाम में फंसा शहर - नगर निगम के नाला सफाई दावे भी पानी में बहे खलवा पुल में सीमेंट लदी गाड़ी डूबी इलाकाई लोगों ने किसी तरह बचाई ड्राइवर की जान -------- KANPUR: सैटरडे शाम प्री-मॉनसून की ज

-सैटरडे शाम हुई जोरदार बारिश से शहर की गलियां, मेन रोड्स से लेकर चौराहे तक बने तालाब, बारिश रुकी तो भीषण जाम में फंसा शहर

- नगर निगम के नाला सफाई दावे भी पानी में बहे, खलवा पुल में सीमेंट लदी गाड़ी डूबी, इलाकाई लोगों ने किसी तरह बचाई ड्राइवर की जान

--------

KANPUR: सैटरडे शाम प्री-मॉनसून की जोरदार बारिश में ही नगर निगम की नाला सफाई के दावे भी बह गए। एक घंटे से भी कम की बारिश में शहर की गलियों से लेकर मेन रोड्स और चौराहे तालाब बन गए और मोहल्ले टॉपू में तब्दील हो गए। बारिश रुकी तो शहर भीषण जाम में फंस गया। शहर की वीआईपी रोड भी तीन घंटे तक डूबी रही और लोग जाम से जूझते रहे। ग्वालटोली, अहिराना, पनकी, शताब्दी नगर में ओले भी गिरे। पार्षदों ने भी मौका देखकर नगर निगम की नाला सफाई के खिलाफ सोशल मीडिया पर मोर्चा खोल दिया। जूही खलवा पुल हमेशा की तरह नहर बन गया.पानी का अंदाजा न लगा पाने के कारण सीमेंट लदी गाड़ी उसमें डूब गई। राहगीरों ने किसी तरह ड्राइवर की जान बचाई।

------------------

गंगा में गिरा सीसामऊ नाला

भीषण बारिश के चलते सीसामऊ नाले के चैनल नहीं खोले गए। इससे नाला ओवर फ्लो हो गया। क्षेत्रीय लोगों की जलभराव की शिकायत के बाद जल निगम ने सीसामऊ नाले के चैनल खोले। चैनल खोलते ही गंगा में सीसामऊ नाले का मुंह फिर से खुल गया और बारिश का पानी गंगा में जाने लगा। वहीं सैटरडे सुबह जिस मोतीझील ग्राउंड में नगर निगम का ऐतिहासिक सदन हुआ शाम को वो मैदान भी डूबा नजर आया।

--------------

इंडस्ट्रियल एरिया में करोड़ों का नुकसान

लॉकडाउन की मार झेल रही इंडस्ट्रीज पर बारिश की मार भी पड़ गई। फजलगंज फैक्ट्री एरिया में जलभराव के बाद फैसिलिटेशन फॉर इंडस्ट्रीज एंड ट्रेड एसोसिएशन(फीटा) नगर निगम के विरोध में आ गया। फीटा के महासचिव उमंग अग्रवाल ने गुस्सा जाहिर करते हुए कहा कि नगर निगम के उच्चाधिकारियों से गुहार लगाई थी कि समय रहते औद्योगिक क्षेत्र फजलगंज के नालों और सड़कों, सिल्ट आदि की सफाई हो जाए लेकिन सुनवाई नहीं की। बारिश से 2000 छोटी-बड़े कारखानों में पानी भर गया। महासचिव के मुताबिक पानी भरने से 70-80 करोड़ का व्यापार प्रभावित।

इन एरियाज में हुआ ाीषण जल ाराव

-वीआईपी रोड

-ग्वालटोली

-अशोक नगर

-ट्रांसपोर्ट नगर

-राजीव विहार

-आवास विकास नंबर-1

-किदवई नगर

-बाबूपुरवा कॉलोनी

-दामोदर नगर

- खाड़ेपुर

-जूही खलवा पुल

-नंदलाल चौराहा

-मरियपुर हॉस्पिटल के सामने

-जेके मंदिर रोड

-विजय नगर

-शास्त्री नगर

-शिवाजीनगर

-पांडुनगर रोड सहित अन्य।

---------------

Posted By: Inextlive
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy  and  Cookie Policy.