रांझावाला में झाडि़यों में फेंकी गई नवजात को दून में किया है भर्ती

देहरादून.

दून में एक बार फिर नवजात बच्ची को पैदा होते ही फेंक दिया गया. मंडे को रायपुर रोड पर रांझावाला के पास एक दुकान के पीछे झाडि़यों में नवजात बरामद हुई. नवजात के रोने की आवाज सुनकर लोग वहां पहुंचे और उसे सीएचसी रायवाला पहुंचाया, जहां से उसे तुरंत दून हॉस्पिटल ले जाया गया.

एक नवजात बालिका को जन्म देकर एक क्रूर मां ने झांडि़यों में फेंक दिया. अगर समय पर नवजात को हॉस्पिटल नहीं पहुंचाया गया होता तो नवजात का बचना मुश्किल होता. फिलहाल नवजात को निक्कू में रखा गया है. डॉक्टर्स के अनुसार बच्ची को सड़क में फेंकने के कारण उसके पैर में चोटें भी आई हैं.

नाल तक नहीं काटी थी

डॉक्टर्स के अनुसार बच्ची की नाल तक नहीं काटी गई थी. निक्कू के डॉक्टर संजीव के अनुसार बच्ची का जन्म मंडे मॉर्निग 8 से10 के बीच हुआ होगा. उसका वजन केवल दो केजी है. बच्ची के चेस्ट में प्रॉब्लम है और उसे सांस लेने में भी दिक्कत हो रही है. उसे ऑक्सीजन पर रखा गया है.

इससे पहले भी मिले न्यू बोर्न

नवजात को फेंक दिये जाने का यह पहला मामला नहीं है. इससे पहले भी राजधानी में नवजात को फेंकने के मामले सामने आए है. पिछले वर्ष जून में जाखन में एक नवजात का शव बरामद किया गया था, जिसे कुत्ता मुंह में दबाकर ले जा रहा था. दूसरा मामला जुड़वा नवजात शिशुओं का था. अगस्त में आईटी पार्क के पास जुड़वा शिशुओं को झाडि़यों में फेंक दिया गया था. दिसम्बर में खुड़बुड़ा में एक पुल के नीचे पास एक नवजात मिला था. नवजात को दून महिला हॉस्पिटल ले गए. जहां चार घंटे बाद नवजात ने दम तोड़ दिया था. इसके अलावा चंद्रबनी और मोथोरावाला में भी नवजात मिले थे. एक नवजात को पथरीबाग स्थित मंदिर में रखा गया था. उसे जन्म देने वालों का भी आज तक पता नहीं चला.

Posted By: Inextlive